Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

अभी पिछले दिनों अमृतसर में दशहरे के कार्यक्रम के दौरान एक दर्दनाक रेल हादसा हो गया था | जिसमे 60 से अधिक लोग मारे गए थे और उतने ही लोग घायल हो गए थे | घटना इतनी गंभीर थी की रात रात में ही आग की तरह फ़ैल गयी | अगली सुबह हर जगह हर किसी की जुबान पर यही था की इस दुर्घटना के पीछे किसकी गलती थी या किसी की साजिश के तहत ऐसा किया गया |

कार्यक्रम से जुड़ा हर ऐक मुख्य पहलू पर यही आरोप थे क्या ट्रेन ड्राइवर ने जानबूझकर ऐसा किया था या रेल मंत्रालय की गलती के कारण ऐसा हुआ| | इसी बीच कार्यक्रम का आयोजक सौरभ मिठान मिठू भी आरोपियों की सूचि में था | लोगो ने अपना आक्रोश निकालने के लिए उसके घर पर पत्थर मारने शुरू कर दिए और घर के शीशे तोड़ने लग गए |

 

सीसी टीवी फुटेज में भागते दिखा मिठू

हादसे से नाराज लोगो से उसे अपनी और अपने परिवार की जान को खतरा था | जिससे घबराकर वह घर को छोड़कर किसी अज्ञात स्थान पर चला गया और फ़ोन बंद कर दिया था | सोमवार को उसने हादसे के प्रति अपना दुख ज़ाहिर करते हुए एक वीडियो के माध्य्म से लोगो से माफ़ी मांगी और खुद को बेकसूर बताया |

 

वीडियो में क्या कहा मिठू ने ?

सौरभ ने बताया की उसने कार्यक्रम से सम्बंधित सभी औपचारिक अनुमतियाँ ले ली थी | 1 मिनट 38 सेकॅन्ड की इस वीडियो में सौरभ रोता हुआ दिखाई हुआ दे रहा है | इस कार्यक्रम के दौरान मारे गए लोगो के परिवार वालो से माफ़ी मांग रहा है | सौरभ ने बताया की स्टेज से उसने करीब दस बार लोगो को अलर्ट किया की वे रेलवे ट्रैक पर न खड़े हो | सफाई देते हुए सौरभ ने कहा की कुछ लोगो  के द्वारा मुझे फ़साने की कोशिश की जा रही है |

इस हादसे का जिम्मेदार बेशक कोई भी हो पर मृतकों के परिवार में उस हादसे में मर गये इंसान की कमी कोई नहीं पूरी कर पायेगा |दूसरी और यह बात निकल कर आती है की जब सभी विभागों से सौरभ ने अनुमतियाँ ले ली थी | तो ट्रेन ट्रैक पर कैसे आ गयी और अगर रेल नहीं रुकवाई जा सकती थी तो लोगो को ट्रैक पर खड़े ही क्यूँ होने दिया |

एक कानून के तहत माना जाता है की अगर कोई भी रेलवे ट्रैक पर चलता है या खड़ा पाया जाता है तो उसको कानून के तहत जुर्माना देना पड़ेगा | तो उस वक्त सभी अधिकारी कहाँ थे उस समय भी अगर लोगो का चालान काट के जुर्माना ले लिया जाता तो  कम से कम किसी का परिवार तो न टूटता |

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here