बहुत बार ऐसा होता है कोई बहुत ही बेशकीमती चीज़ हमारे पास होती है और हम उसे पहचान नहीं पाते है और ना ही उसकी कीमत का सही अंदाज लगा सकते है लेकिन जब हमे इस बारे में पता चलता है तो हम चौंक जाते है और उस मूल्यवान चीज़ को हम मामूली समझने की भूल कर बैठते है ऐसी ही एक भूल अमेरिका के एक आदमी ने की है वो अमेरिका के मिशिगन में रहने वाला है वो लगभग ३० सालो से एक पत्थर से अपने घर का दरवाजा बंद कर रहा था लेकिन उसको उस पत्थर के बारे में कुछ नहीं पता था लेकिन जब पता चला तो वो बहुत ही ज्यादा चौंक गया |

गिफ्ट में मिला था ये उल्कापिंड ! सोचा बेकार का पत्थर !


किसी ने सच ही कहा है की हीरे की परख सिर्फ जोहरी को होती है एक साधारण इन्सान क्या समझेगा जिस पत्थर को पत्थर समझ कर वो व्यक्ति पिछले ३० सालो से अपने घर का दरवाजा बंद कर रहा था वो कोई मामूली पत्थर नहीं है बल्कि वो 10 किलो का एक उल्कापिंड है और उसकी कीमत लगभग 1 लाख डोलर है मतलब 74 लाख रूपये है उस आदमी ने बताया की उसे ये पत्थर गिफ्ट में मिला था जब उसने अपनी प्रॉपर्टी बेचीं थी |

एक जियोलॉजी प्रोफेसर ने पता लगाई असली कीमत और जानकर सब हैरान रह गए।

जिसने इसे गिफ्ट किया था उसने कहा की उसे ये पत्थर 1930 में एक खुदाई में मिला था और उस टाइम ये पत्थर काफी गर्म था जो आदमी इस पत्थर के सहारे दरवाजा बंद करता था उसने सोचा की चलो आज इसकी कीमत पता लगाई जाए तो वो उस पत्थर को यूनिवर्सिटी में ले गया जहाँ जिओलोजी के प्रोफेसर ने उस पत्थर को देखा और चौंक गयिया और तुरंत पत्थर का टेस्ट कराया |


जांच में पता चला की इस पत्थर में 88% लोहा , 12% निकल और कुछ मात्र में एनी धातुये है और टेस्ट करने पर पता चला की ये एक उल्कापिंड है | इस उल्कापिंड का नाम एडमोर उल्कापिंड रखा गया है क्यूंकि ये मिशिगन स 48 किलोमीटर दूर एडमोर स्थित माउंट प्लीसेंत के पास स्थित एक खेत में गिरा था जिस खेत को बेचने पर मिशिगन के एक आदमी को ये पत्थर उपहार में मिला था फिलहाल इस उल्कापिंड का सैंपल जांच के लिए कैलिफ़ोर्निया यूनिवर्सिटी के प्लेनेट्री साइंस डिपार्टमेंट में जा रहा है अगर किसी भी तरह से इस शख्स को इस उल्कापिंड की सही कीमत मिल जाती है तो ये शख्स रातो रात लखपति बन जाएगा हम उम्मीद करते है की ऐसा ही हो |

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here