Harsh Punishments for Rapists:- महिला के साथ बलात्कार करना एक बहुत बड़ा जुर्म है। यह तो सभी मानते हैं। लेकिन हमारे देश में यह जुर्म नहीं है। इस जुर्म की सजा है कुछ साल जेल या फिर पूरी ज़िन्दगी की जेल। 2012 की दिसंबर को दिल्ली की सड़कों पर एक खाली बस में कुछ हैवानों ने एक 23 साल की लड़की के साथ बलात्कार किया। उसे अधमरा किसी झाड़ी में यूँही फेंक दिया गया। उसके साथ हुआ यह हादसा, देश भर में डर और गुस्सा दोनों एक साथ ले आया था। जो भी उस लड़की के साथ होने वाली हैवानियत को सुनता, काँप उठता। अगले दिन सुबह लोगों के पास हाथों में नारों से लिखे बोर्ड और गुस्से में चीखती आवाज़ें थी। उन हज़ारों नहीं लाखों लोगों का सैलाब देश के प्रतिष्ठित जगहों तक चला। दिल्ली का इण्डिया गेट हो या राष्ट्रपति भवन। हर जगह कोहराम था, गुस्से का।

सब एक साथ खड़े थे उस लड़की को न्याय दिलाने के लिए। और वो लड़की दिल्ली के सबसे बड़े अस्पताल सफदरजंग में अपनी आखिरी सांसें गईं रही थी। उसने अपनी माँ से बस यही कहा – माँ, मैं जीना चाहती हूँ। देश के बड़े से बड़े डॉक्टर ने उसकी जान बचाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। जिससे जो संभव हुआ, उसने किया। मस्जिदों में उसके नाम की दुआ पढ़ी जा रही थी और मंदिरों में लोग उसके नाम पर दिये जला रहे थे। सब यही चाहते थे, कि वह फिर से जी उठे। लेकिन तब तक वह भगवान से जा मिली थी। वह नहीं बच सकी।

Harsh Punishments for Rapists:- उसके साथ जिन लोगों ने यह घिनौना अपराध किया था, वह पुलिस के सामने थे। साल-दर-साल लंबा केस चला, अपराधियों ने उस लड़की के चरित्र पर ऊँगली उठाई। बस, वह देश के लिए ‘दामिनी’ बन गई। अफ़सोस, वह तो नहीं रही लेकिन उसे मारने वाला आज भी सांस ले रहे हैं। देश के उच्च न्यायालय में उन सभी 6 दोषियों को फांसी की सजा सुनाई गई। लेकिन, बहुत समय बाद। इन्साफ मिला लेकिन बहुत देर से। क्या न्यायालय सच में अँधा है जो देख नहीं सकता कि देश में क्या हो रहा है? क्या न्यायालय में यह देखने की ताकत नहीं कि कौन क्या कर रहा है?

हमारे देश में इस घिनोने अपराध के लिए कोई बड़ा कानून या कहें ऐसी सजा नहीं है जो उन लोगों को दी जा सके। लोग कहते हैं कि ऐसी हैवानियत करने वालों को तो दर्दनाक सज़ा मिलनी चाहिए। लेकिन ? भारत में साल 2013 में एक बिल आया था। एंटी-रेप बिल 2013, इसमें बलात्कार के दोषियों को चौदह साल की जेल या फिर फांसी की सजा सुनाई जायेगी।

दुनिया में ऐसे कई देश हैं जहाँ इस जुर्म की सजा बेहद दर्द नाक है। जानिए उन देशों के बारे में –

चीन

Harsh Punishments for Rapists

चीन ऐसा देश हैं जहाँ पर किसी भी तरह का अपराध करने पर बेहद कड़ी सजा मिलती है। चीन में महिलाओं के साथ बलात्कार करने वाले को मौत का फरमान पढ़ दिया जाता है।

फ्रांस

Harsh Punishments for Rapists

फ्रांस में अगर किसी भी महिला के साथ शारीरिक शोषण जैसे अपराध होते हैं तो कानून में सख्ताई अपने-आप नज़र आजाती है। फ्रांस में किसी महिला का अपराध करना 15 साल की जेल है। अपराध जितना घिनौना होता है सजा उतनी बढ़ती जाती हैं। यह पंद्रह साल, तीस भी हो सकते हैं।

सऊदी अरब

Harsh Punishments for Rapists

सऊदी अरब में बलात्कारियों की गर्दन उड़ा दी जाती है। कहा जाता है सऊदी अरब में अगर कोई ड्रग्स का इस्तेमाल करता है या बेचता-खरीदता हुआ पाया जाता है तो उसके साथ भी यही हश्र किया जाता है।

नार्थ कोरिया

Harsh Punishments for Rapists

तानाशाही का बेहतरीन उदाहरण। नार्थ कोरिया में किसी भी अपराध की सजा पाना मानों मौत को बुलावा भेजना है। नार्थ कोरिया में अगर किसी पुरुष ने महिला का बलात्कार किया तो उस पर गोलियों की बरसात कर दी जाती है। गोली मरने वाला एक व्यक्ति नहीं बल्कि कई लोग होते हैं, जो एक आवाज़ में अपराधी के ऊपर गोलियों की बरसात कर देते हैं।

अफ़ग़ानिस्तान

Harsh Punishments for Rapists

INTERNATIONAL MEN’S DAY – वक़्त के साथ-साथ सब कुछ बदल रहा है, यहाँ पुरुष अब अपने हक़ के लिए चींख रहा है

अफ़ग़ानिस्तान या अफ़ग़ानियों का शहर। इस देश में बलात्कारी के माथे पर गोली मार दी जाती है या फिर उसे सूली पर चढ़ा दिया जाता है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here