पीएम की कुर्सी संभालते ही मोदी अपने फॉर्म में दिख रहे हैं. एक के बाद एक कड़े फैसले लेकर विरोधियो में हड़कंप मचा रहे हैं, वहीं दूसरी और जनता के बीच चर्चा का विषय बनते जा रहे हैं. हाल ही में उन्होंने जनता के हित में एक से बढ़कर एक फैसले लिए है. वहीं अब जानकारी मिल रही हैं की पीएम मोदी जल्दी ही 19 बड़ी सरकारी कंपनियोंपर ताले लगाने जा रही है. आइये जानते है पूरा मामला क्या है.

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि केंद्र की मोदी सरकार ने घाटे में चल रही 19 बड़ी सरकारी कंपनियों को बंद करने का निर्णय लिया हैं. इन सरकारी कंपनी में HMT, हिंदुस्‍तान केबल्‍स और इंडियन ड्रग्‍स जैसी कई बड़ी कंपनियां शुमार हैं. जी हाँ इस निर्णय के बाद जहां एक तरफ कर्मचारियो में आक्रोश हैं, वहीं दूसरी और विपक्षी पार्टी सरकार पर हमला बोलने से नही चुक रही हैं.

कौन कौन कंपनी हो रही हैं बंद, जाने

केंद्र सरकार की तरफ से दी गयी जानकारी के मुताबिक तुंगभद्रा स्‍टील प्रोडक्‍ट्स लिमिटेड, HMT वॉचेज लिमिटेड, HMT चिनार वॉचेज लिमिटेड, HMT बियरिंग्‍स लिमिटेड, क्रेडा HPCL बायोफ्यूल्स लिमिटेड, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह वन और वृक्षारोपण विकास निगम लिमिटेड , HMT लिमिटेड की ट्रैक्‍टर यूनिट और इंस्‍ट्रूमेंटेशन लिमिटेड की कोटा यूनिट, इंडियन ड्रग्‍स और राजस्‍थान ड्रग्‍स एंड फार्मास्‍युटिकल्‍स लिमिटेड, हिंदुस्‍तान केबल्‍स लिमिटेड ,IOCL-क्रेडा जैसी कंपनी को बंद करने के आदेश दिए गए हैं.

क्यों किया जा रहा है बंद ?

सरकार की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक यह सारी कंपनी घाटे में चल रही है. इन कंपनी से सरकारी खजाने भरने की वजाए सरकारी खजाने खाली हो रही है. इसके साथ ही सरकार की और से यह भी कहा गया हैं कि इन कंपनियो में निवेशको की भी भारी कमी हैं. मतलब साफ़ हैं की मोदी सरकार काले धन के खिलाफ लड़ाई पर अपने रुख को साफ़ कर दिया हैं.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here