सुपरहीरो के रचियता स्टैन ली ने कल आखिरी सांस ली 95 साल की उम्र में उन्होंने कई महान किरदारों को जन्म दिया है | स्टैन ली एक ऐसा नाम है जो हर किसी के बचपन से जुड़ा है | मार्वल स्टूडियोज़ की सुपरहीरो फिल्मो का एक बूढ़ा शख्स अब नहीं दिखाई देगा | सोमवार को इनके निधन के बाद बॉलीवुड और हॉलीवुड दोनों में शोक दिखाई दे रहा था | इन्होने मनोरंजन से भरपूर फिल्मो और मैग्ज़ीनों को लिखा है | स्टैन ली पेशे से एक लेखक और निर्देशक थे |

 

सोमवार को हुई पुष्टि …

स्टैन ली की बेटी जैन सेलिया ली ने उनकी निधन की खबर की पुष्टि की है | स्टैन ली का असली नाम स्टैनली लिबर था | 28 दिसंबर, 1922 को जन्मे स्टैनली ने अपने करियर की शुरुआत 1939 में की | 1960 में टाइटन नाम की कॉमिक बुक को लाने में अहम भूमिका स्टैन ली ने निभाई थी | कलाकर जैक किरबी और स्टीव डिक्टो की मदद से यह इस किताब को लेकर आये थे | अपने करियर के दौरान उन्होंने कई अमर सुपरहीरो को गढ़ा जो हर वर्ग को अपनी और आकर्षित करने में सबसे आगे थे |

 

कौन कौन से थे सुपरहीरोस ?

वैसे तो अमेरिका में सुपरहीरोस से लोग पहले ही परिचित थे क्योंकि 1938 में डिटेक्टिव कॉमिक्स पहले ही बाज़ार में आ चुकी थी | पर ली ने जिन किरदारों को दुनिया के सामने दिखाया उनमे भावनायें, मानवता के सारे गुण होते थे | उनके किरदार वैसे तो पत्थर से बने होते थे इसके बावजूद भी उनमे सुरक्षा और असुरक्षा, प्यार, क्रोध की भवानाये हुआ करती थी | इन्होने कई सुपरहीरोस की रचना की जिनमे से कुछ मुख्य है जाल से उड़ने वाला स्पाइडरमैन, भारी शरीर वाला हल्क, लोहे का इंसान आयरन मैन, एक्स मैन, टोनी स्टार्क आदि शामिल है |

इनमे से स्पाइडरमैन सबसे ज्यादा प्रचलित और सफल किरदार रहा है |

स्टैन ली के जीवन से जुडी कुछ ख़ास बातें

वैसे तो ली का पूरा जीवन ही ख़ास है, मनोरंजन में एक नया मोड़ देने वाले इस कलाकार को कई पुरस्कारों से भी सम्मानित किया गया है | 2008 में स्टैन ली को नेशनल मेडल ऑफ आर्ट्स से सम्मानित किया गया था | जो की केवल सरकार द्वारा उन चुनिंदा लोगो को मिलता है जिन्होंने ने क्रिएटिव किरदारों को पेश किया होता है सरकार द्वारा दिया गया यह अवार्ड सबसे बड़ा अवार्ड कहलाता है जिसे ली को दिया गया था | महज़ 17 साल की उम्र में ली टाइमली कॉमिक्स की कर्मचारी रहे थे | उन्होंने 1947 में एक्टर्स जॉन ली के साथ शादी की थी | जिनका 2017 में देहांत हो गया था और 2018 के अंत में अब स्टैन ली भी भगवान को प्यारे हो गए है |

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here