गुरुवार का दिन सांसद के लिए महत्वपूर्ण बताया जा रहा है। देश की केंद्र सरकार आज लोकसभा में तीन तलाक बिल के साथ कई अन्य विधेयकों को पेश कर चर्चा कर सकता है। वही देश की मुख्य पार्टियों भाजपा और कांग्रेस ने अपने अपने सांसदों को उपस्थित रहने का व्हिप जारी किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले ही दिन तीन तलाक के विधेयक को पास किया था। सुनने में आ रहा है कि चर्चा के बाद बिल को पारित भी किया जा सकता है।

विपक्षी दल इस तीन तलाक बिल का काफी विरोध कर रहे हैं। लेकिन सरकार मान रही है कि इस विधेयक से लैंगिक समानता और न्याय की दिशा में एक बड़ा कदम होगा। वहीं अन्य पार्टियाँ जैसे कि कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और द्रमुक कह रही हैं कि इस बिल की जाँच पड़ताल करने के लिए संसदीय समिति करे। भाजपा सरकार के पास निचले सदन में अच्छी बहुमत मिल रही है, जिसके कारण इसे पारित करने में कोई परेशानी नहीं होगी। आपको बताएं कि जनता दल यू जैसे भाजपा के कुछ सहयोगी दल भी विधेयक को लेकर आपत्ति दिखा चुके हैं।

पोक्सो (POCSO) संशोधन बिल किया गया पारित

वहीं बुधवार को पोक्सो (POCSO) संशोधन बिल को पारित कर दिया गया है। नए कानून में एक प्रावधान लाया गया है कि यौन अपराधों के मामलों में मृत्यु दंड। इस दौरान हो रही चर्चा में भाजपा सांसद हरनाम सिंह की बातों से केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी नाराज़ दिखाई दीं। हरनाम सिंह ने कहा कि टीवी और सोशल मीडिया ही यौन अपराधों के बढ़ते आंकड़ों के लिए जिम्मेदार है। उनके लिए विज्ञापन और फिल्मी गानें चिंता का विषय बन गए हैं। उन्होंने सांसदों के सामने कई बार आपत्तिजनक शब्द भी कहे थे। इसी बात को लेकर मौजूद स्मृति ईरानी नाराज हो गईं। और उन्होंने सांसद हरनाम सिंह को शब्दों को सही तरीके से चुनने के लिए कह दिया। स्मृति ईरानी ने कहा कि यहाँ बहुत सारी महिला सांसद बैठी हैं और इस चर्चा को पूरा देश देख रहा है।

बता दें कि गत मंगलवार को राज्यसभा में यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण संशोधन बिल 2019 को पेश करा था।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here