मंगलवार को उत्तर प्रदेश सरकार यानि कि योगी सरकार विधान सभा और विधान परिषद में प्रदेश का वित्तीय वर्ष 2019-2020 का पहला अनुपूरक बजट पेश करेगी। इस बजट में लागत 15 हजार करोड़ रुपए रखी गई है।

योगी आदित्यनाथ की सरकार का यह तीसरा अनुपूरक बजट होगा। सुत्रों के मुताबिक उत्तर प्रदेश के वित्तमंत्री राजेश अग्रवाल विधानसभा में 12:30 बजे बजट पेश करेंगे।

इससे पहले वर्ष 2017-18 जो कि योगी सरकार के पहला अनुपूरक बजट था, उस साल की लागत 11 हजार 388 करोड़ थी। वर्ष 2018-19 में दुसरे बजट की राशि 8 हजार 54 करोड़ रखी गई थी। और अब तीसरे बजट में आशंका लगाई जा रही है कि इसकी राशि करीब 15 हजार करोड़ हो सकती है। यानि की यह बजट योगी सरकार के पिछले दोनों बजटों से बड़ा होगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में लोकसभा में प्रदेश कैबिनेट की बैठक में कई बातों के फैसले लिए जाएंगे। इस बैठक में अनुपूरक बजट और लखनऊ के दो अधूरे रेल उपरिगामी सेतु जैसे मामलों पर बात हो सकती है।

अब पर्यटक लखनऊ की सैर हवाई यात्रा से कर सकेंगे

अब आप उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की खुबसुरती को और भी अच्छे से देख सकेंगे। इसके लिए पर्यटन विभाग जल्द ही एक निजी कंपनी के साथ मिलकर लखनऊ में एयर टूरिजम की शुरुआत करने वाला है। हेलाकाॅप्टर के लिए हेलीपैड और कार्यालय के लिए जगह की चयन हुआ। इसके लिए सोमवार को मंडल आयुक्त अनिल गर्ग के समक्ष जिला प्रशासन, पर्यटन एलडीए और नगर निगम के अधिकारियों के साथ एक मीटिंग हुई।

इसके लिए मंडायुक्त ने सभी अधिकारियों को काम सौंप दिया है। अब जिला प्रशासन, एलडीए और नगर निगम के अधिकारी जगहों का निरीक्षण करेंगे। जिसके बाद ट्रैफिक एप्रोच, एयरपोर्ट अथाॅरिटी की एनओसी के साथ मिलकर सुरक्षा मानक के हिसाब से एक जगह को हैलीपैड के लिए एक रिपोर्ट बनाएगी। फिर हेलीकाॅप्टर पर्यटन सेवा शुरु करने की घोषणा की अगुवाई करेगी।  

हेलीकाॅप्टर सेवा शुरु करने के लिए एक कक्ष भी बनाया जाएगा। सेवा शुरु होने के बाद लोग इमामबाड़ा, रुमी दरवाजा, सतखंडा, रेजीडेंसी, छतर मंजिल, केडी सिंह बाबू स्टेडियम, इकाना स्टेडियम के साथ हजरतगंज को भी देख पाएंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here