किसी ‘पुलिस अधिकारी’ के लिए यह एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी का काम होता है की वह जिस उम्मीदवार का चयन कर रहा है वह मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत हो | हर देश में पुलिस में भर्ती के लिए अलग अलग कानून है जिसके आधार पर किसी इंसान को पुलिस बल में शामिल किया जाता है | महिलाओं और पुरुषों को कड़ी से कड़ी परीक्षाओं से गुज़रना पड़ता है |

इंडोनेशिया अपने विविध सांस्कृतिक रिवाजों की वजह से खासा प्रसिद्ध है और अब एक नयी चौकाने वाली बात का पता चला है की यहाँ महिला पुलिस भर्ती के लिए लड़कियों के एक कौमार्य परीक्षा यानी विर्जिनिटी टेस्ट देना होता है। जानिए और खास बातें है इंडोनेशिया महिला पुलिस भर्ती प्रक्रिया की

ऐसा ही एक अजीब और गरीब परीक्षा इंडोनेशिया में महिलाओं को भर्ती के दौरान देनी पड़ती है | जिसके आधार पर तय होता है कि महिला पुलिस बल में शामिल योग्य है या नहीं | शर्मसार करने वाली इस परीक्षा का नाम है  ‘कौमार्य परीक्षा’ (virginity tests) |

 

क्या होता है ‘कौमार्य परीक्षा’ (विर्जिनिटी टेस्ट) और कैसे होती है इसकी प्रक्रिया

आज से पहले आपने कभी नहीं सुनी होगी पुलिस में भर्ती के लिए ऐसी कोई डरावनी परीक्षा पर इंडोनेशिया में वर्जिन टेस्ट पुलिस में भर्ती की प्रक्रिया का एक हिस्सा है |

कौमार्य परीक्षा के दौरान युवा महिला को एक कक्ष में ले जाया जाता है | 20 महिलाओं का एक समूह अंदर जाता है | जहां उन्हें नग्न स्थिति में होने का आदेश दिया जाता है | फिर दो दो युवा उम्मीदवारों को एक छोटे कमरे में भेजा जाता है | फिर परीक्षक जांच के लिए दो अंगुलियों को सम्मिलित करता है। इस परीक्षा का मकसद युवती के कुंवारे और अविवाहित जीवन के बारें में जानना होता है |

 

 इस घृणास्पद तरीकें के लिए महिलायें ही है जिम्मेदार

ये बात आपको और हैरान करेगी की कुछ उच्च दर्जे की महिला पुलिस अधिकारी ही इस टेस्ट को महत्वपूर्ण मानती हैं और इसे जारी रखना चाहती हैं | इस मुद्दे पर बात करते हुए एक महिला पुलिस कर्मी ने कहा की परीक्षण से पता चलता है की हम महिलायें खुद की रक्षा कर सकती है और हम अन्य लोगो की सुरक्षा करने के लिए सक्षम है |

महिलाओं को इस तरिके से अपमानित करना किसी देश की छवि को दर्शाता है ?

 

इंडोनेशिया में उम्मीदवारों का चयन इस आधार पर करना की महिला वर्जिन है या नहीं | इससे किसी देश की रक्षा का आधार कैसे समजा जा सकता है |अगर देश व समाज के लोगो की रक्षा के लिए उस देश के प्रति सम्मान व देश प्रेम होगा तो ऐसी घृणा पूर्ण परीक्षा की जरूरत नहीं होनी चाहिए |

 

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here